खेती के साथ एग्रो टूरिज़्म  से करें मोटी कमाई, जनियें कैसे

Yellow Browser

एग्रो टूरिज़्म (Agro Tourism) यानि कि कृषि-पर्यटन। एग्रो टूरिज़्म की मदद से शहरी पर्यटक खेत-खलिहान और खेती-किसानी के बारे में करीब से जानकारी ले रहे हैं। शहरी इलाकों के पर्यटकों को एग्रो टूरिज़्म काफी पसंद आ रहा है।

एग्रो टूरिज्म के माध्यम से शहरी पर्यटक जब आते है तो पर्यटक गाँव देखते है गाँव के रहन सहन देखते है किसानों के जैसे रहते है और साथ ही पर्यटकों को खेतों के बीच जाकर प्राकृतिक माहौल में फसलों एवं उनके उत्पादों को देखने एवं प्रयोग करने का अवसर प्राप्त होता है।

Green Blob

पर्यटकों के लिए ट्यूबवेल पर नहाना या तालाब पर नहाना, ट्रैक्टर-ट्रॉली में घूमना, बैलगाङी की सवारी, गाय से दूध निकालना, किसानों के साथ खेत मे थोङा काम करना, फसलों तथा सब्जियों के बारे मे जानकारी लेना, खेतों से फल सब्जी तोङ के लाना तथा कलात्मक कार्य जैसे कि मिट्टी से मिट्टी के बर्तन बनाना, कारपेंट्री, शिल्पकारी आदि को पर्यटकों के समक्ष मनोरंजक तरीके से प्रस्तुत किया जाता है।

पर्यटकों को एग्रो टूरिज़्म रोमांच एवं उन्हें उनकी छुट्टियों में एक अलग सा अनुभव प्राप्त करने का अवसर देता है।

हमारे देश मे महाराष्ट्र कृषि-पर्यटन को विकसित और बढ़ावा देने वाला अग्रणी राज्य है। सितंबर 2020 में, महाराष्ट्र ने कृषि-पर्यटन नीति पारित की।

एग्रो टूरिज़्म के माध्यम से पर्यटकों को फ़ार्म विजिट, फ़ार्म एक्टिविटी, और फ़ार्म स्टे जैसी कई सुविधाएं दिये जाते हैं। 

एग्रो टूरिज़्म के माध्यम से पर्यटक प्रदूषण मुक्त वातारण में रहने का आनंद उठाते हुए खेती किसानी को करीब से देखते हैं। 

Medium Brush Stroke

Agro Tourism

एग्रो टूरिज़्म के बारे मे और अधिक जानकारी पाने के लिए नीचे क्लिक करें।

Medium Brush Stroke

Click here