ड्रोन के इस्तेमाल से खेती करना होगा आसान 

Pink Blob
Tilted Green Blob
Tilted Green Blob

ड्रोन एक मानव रहित विमान है जिसे दूर से रिमोट, मोबाईल या कम्प्यूटर से नियंत्रित किया जा सकता हैं। इसका उपयोग फोटोग्राफी, राहत एवं बचाव कार्य, रक्षा के क्षेत्र मे, आपदा प्रबंधन, मौसम की निगरानी एवं कृषि आदि के क्षेत्र मे किया जा रहा हैं।

पूरे विश्व मे कृषि के कार्यों के लिए नैनो टेक्नोलॉजी, ड्रोन  एवं आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का उपयोग बढ़ रहा है। हमारे देश मे भी सरकार कृषि क्षेत्र मे तकनीक के उपयोग को बढ़ावा दे रही हैं।

ड्रोन की मदद से बङे क्षेत्रफल मे कुछ ही मिनटों मे खाद, कीटनाशक या दवाओं का छिंङकाव आसानी से किया जा सकता है।

फसल की लंबाई ज्यादा होने से किसानों को निगरानी करना कठिन हो जाता है ऐसे मे ड्रोन फसलों की निगरानी करने मे मदद करता हैं।

खेती मे ड्रोन के इस्तेमाल से फसलों पर कीटनाशकों का छीङकाव करना किसानों के लिए आसान हो जाता हैं क्योंकि ड्रोन इस कार्य को पारंपरिक तरीकों के तुलना मे बहुत जल्दी एवं अच्छे तरीके से करता हैं।

Cream Section Separator

ड्रोन के उपयोग से खेत की सिंचाई पर निगरानी रखी जा सकता हैं ड्रोन मे लगे मल्टीस्पेक्ट्रल सेंसेर उन क्षेत्रों की पहचान कर सकती है जो क्षेत्र शुष्क हैं इसके उपयोग से किसान खेत के पूरे क्षेत्र मे बेहतर सिंचाई कर सकते हैं।

इसका उपयोग फसल नुकसान के आकलन मे भी किया जाता हैं इसमे लगे सेंसेर की मदद से किसान पता कर सकते है कि खेत के कौन से भाग मे फसल का ज्यादा नुकसान हुआ हैं। साथ ही खरपतवार, संक्रमण और कीटों से प्रभावित क्षेत्रों का पता लगाने मे भी मदद करता हैं।

Yellow Browser

- ड्रोन का उपयोग फसल स्वास्थ्य की निगरानी करने मे भी किया जाता है।

-  इसके उपयोग से किसान पशुओं पर भी नजर रख सकते हैं।

- ड्रोन में लगे कैमरों एवं सेंसेर की मदद से फसलों की देखरेख की जा सकती है।

- इसकी मदद से फसल के नुकसान का आकलन किया जा सकता हैं।

Medium Brush Stroke

कृषि मे ड्रोन का इस्तेमाल

कृषि मे ड्रोन के इस्तेमाल के बारें और अधिक जानने के लिए नीचे क्लिक करें।

Medium Brush Stroke

Click here