Yellow Browser

जनियें, लौकी एवं लौकी  के किस्मों के बारें मे.. 

कद्दूवर्गीय सब्जियों मे लौकी का प्रमुख्य स्थान है, लौकी (Bottle Gourd) को घीया के नाम से भी जाना जाता है।

लौकी का उपयोग सब्जी के आलवा रायता, आचार, कोफ्ता, मिठाइयाँ आदि बनाने मे भी किया जाता है।

लौकी की खेती के लिए गर्म एवं आद्र जलवायु की आवश्यकता होती है इसकी फसल पाले को सहन करने मे बिल्कुल ही असमर्थ होती है। 

इसकी फसल मे रोग एवं कीटों का प्रकोप अधिक वर्षा और बादल वाले दिनों मे बढ़ जाती है। इसकी खेती विभिन्न प्रकार की मृदाओं मे की जा सकती है।

Hybrid Bottle Gourd Varieties 

Kashi Bahar (काशी बहार) Pusa Hybrid 3 (पूसा हाइब्रिड 3) Arka Ganga (अर्का गंगा)

Bottle Gourd Varieties 

Pusa Santushti (पूसा संतुष्टि) Arka Nutan (अर्का नूतन) Pusa Sandesh (पूसा संदेश) Arka Shreyas (अर्का श्रेयस) Pusa Naveen (पूसा नवीन) Arka Ganga (अर्का गंगा) Pusa Hybrid 3 (पूसा हाइब्रिड 3) Arka Bahar (अर्का बहार)

Bottle Gourd Varieties 

Kashi Kiran (काशी किरन) Pusa Summer Prolific Round Kashi Kundal (काशी कुंडल) Pusa Summer Prolific round Kashi Kirti (काशी कीर्ति) Samrat (सम्राट) Kashi Ganga (काशी गंगा) Kashi Bahar (काशी बहार)

लौकी के हाइब्रिड एवं उन्नत किस्मों एवं इन किस्मों की  विशेषताएं और पैदावार के बारे मे और अधिक जानकारी पाने के लिए नीचे क्लिक करें। 

Medium Brush Stroke

Click here