Yellow Browser

गांव में शुरू करें कृषि व्यवसाय होगी, मोटी कमाई 

भारत एक कृषि प्रधान देश है जहाँ कि लगभग 68 प्रतिशत जनसंख्या गाँव मे रहती हैं गाँव की ज्यादातर जनसंख्या कृषि पर निर्भर करती हैं।

अगर आप गाँव मे रहते हैं और आपके पास कोई नौकरी, रोजगार नहीं हैं और आप नौकरी की तलाश कर रहे है या तो फिर आप कोई व्यवसाय गाँव मे शुरू करना करना चाहते हैं तो आपके लिए कृषि क्षेत्र से जुड़े कुछ व्यवसाय अच्छे साबित हो सकते हैं। 

Yellow Browser

गाँव मे कृषि से जुङे कई ऐसे व्यवसाय शुरू किए जा सकते है और इन व्यवसाय से अच्छा मुनाफा भी कमाया जा सकता हैं। साथ ही कुछ लोगों को रोजगार भी दिया जा सकता हैं।

गाँव के ज्यादातर लोग खेती करते हैं और खेती करने के लिए फसलों की बीज से लेकर खाद तक की आवश्यकता किसानों को होती हैं जिसे खरीदने के लिए किसानों को शहरों या तो फिर नजदीकी दुकानों पर जाना पङता हैं अगर गाँव मे ही खाद, बीज का दुकान हो तो किसानों को भी दूर से खेती से संबंधित समान को लाना नहीं पङेगा। इसलिए गाँव मे खाद, बीज का दुकान करना अच्छा मुनाफा वाला बिजनेस हो सकता हैं।

डेयरी फार्म मध्यम वर्गीय, किसान, युवा, मजदूर एवं महिलाओं आदि के लिए रोजगार एवं आय का अच्छा स्त्रोत हो सकता हैं। क्योंकि डेयरी फ़ार्मिंग मे दूध व्यवसाय के साथ-साथ अतिरिक्त कई चीजों से भी अच्छे मुनाफे कमायें जा सकते है जैसे कि डेयरी फ़ार्मिंग से प्राप्त गोबर, गौमूत्र आदि का प्रयोग करके जैविक खाद एवं जैविक कीटनाशक का निर्माण करके भी मुनाफे कमाए जा सकते है।

गाँव मे शुरू करें डेयरी फार्म

गाँव मे मिट्टी जांच केंद्र शुरू करना भी रोजगार एवं आय का अच्छा स्त्रोत हो सकता हैं। गांव में मिट्टी के परीक्षण की प्रयोगशाला शुरु करने के लिए सरकार अनुदान भी देती हैं जिससे मिट्टी जांच केंद्र खोलने मे आसानी होती हैं।

आप चाहें तो गाँव मे जैविक खाद बनाने की व्यवसाय भी शुरू कर सकते हैं और इससे अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं क्योंकि गाँव मे गोबर सस्ते दामों पर आसानी से उपलब्ध होता हैं आप गोबर से जैविक खाद बनाकर किसानों को जैविक खाद बेच सकते हैं।

नर्सरी को भी आय का अच्छा स्त्रोत बनाया जा सकता हैं गाँव मे नर्सरी का व्यवसाय भी अच्छा मुनाफा दे सकता हैं क्योंकि किसानों को सब्जी, फूल आदि की फसलों के लिए पौध बाहर के नर्सरी से मगाना पङता है। 

गाँव मे अनाज खरीद बिक्री के दुकान से भी अच्छे पैसे कमाए जा सकते हैं क्योंकि ज्यादातर गाँव के लोग खेती करते हैं और खेती से अनाज उगाते हैं। किसान जीवनयापन के लिए अनाजों की बिक्री करते हैं।

जैविक उत्पादों की मांग हमारे देश मे ही नहीं बल्कि विदेशों मे भी इसकी मांग अच्छी रहती है और रासायनिक उत्पादों की तुलना मे इसकी कीमत भी ज्यादा मिलती हैं। इसलिए गाँव मे ऑर्गेनिक खेती करके भी अच्छे पैसे कमाए जा सकते हैं।

मशरूम मे स्वाद और पौष्टिक गुणों के साथ-साथ अनेक औषधिय गुण पाए जाते है इसलिए इसकी मांग पूरे साल भर देखने को मिलता हैं। यह खाने मे भी स्वादिष्ट होता है जिसकी वजह से लोग इसे काफी पसंद करते हैं। मशरूम को कम भूमि, कम जल और कम खर्च में आसानी से उगाया जा सकता हैं। मशरूम के उत्पादन के लिए कृषि योग्य भूमि की आवश्यकता नहीं पङती हैं। इसे झोपड़ी या घर के एक कमङे में भी आसानी से उगाया जा सकता हैं।

गाँव मे शुरू करें मशरूम उत्पादन व्यवसाय 

Yellow Browser

मधुमक्खी पालन एक ऐसा घरेलू उधोग है जिसे हर वर्ग के किसान या व्यवशाय करने वाले लोग आसानी से कर सकते है। मधुमक्खी पालन करने का तरीका बिल्कुल ही आसान है। इससे कम लागत और कम समय मे अच्छा मुनाफा कमाया जा सकता है।

मधुमक्खी पालन व्यवसाय

अंडे की खपत गांव से लेकर बड़े नगरों तक है. इसको देखते हुए मुर्गी अंडा उत्पादन का व्यवसाय गाँव मे शुरू करना काफी फायदेमंद साबित हो सकता हैं। क्योंकि अंडा उत्पादन में लागत की अपेक्षा ज्यादा कमाई होती है।

गाँव मे बकरी पालन करके भी अच्छी आमदनी की जा सकती हैं बकरी पालन की शुरुआत कम पैसों मे भी किया जा सकता हैं।

Yellow Browser

मछली पालन व्यवसाय से भी अच्छी आमदनी की जा सकती हैं बाजार में मछली के मांस, तेल की बहुत मांग रहती है। मछली पालन व्यवसाय में कम खर्च पर अधिक मुनाफा कमाया जा सकता है।

खेती मे किसानों को फसल की बुआई से लेकर फसल की कटाई तक मे कई यंत्रों की जरूरत पङती हैं ऐसे मे गाँव मे कस्टम हायरिंग केंद्र खोलना काफी फायदेमंद हो सकता हैं सरकार भी कस्टम हायरिंग केंद्र खोलने पर यंत्रों की खरीदारी पर सब्सिडी प्रदान करती हैं।

गाँव मे शुरू होने वाला और कृषि व्यवसायों के बारे मे जानने के लिए नीचे क्लिक करें। 

Medium Brush Stroke