Tuesday, October 4, 2022

छत पर जैविक फल और सब्जी लगाने के लिए सरकार दे रही है सब्सिडी – Chhat par bagwani Yojana

spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

अगर आप शहर के रहने वाले है और आपकी घर की छत खाली है तो उस पर टेरेस गार्डनिंग करने के लिए बिहार सरकार एक खास तरह की छत पर बागवानी योजना (Chhat par bagwani Yojana) की शुरुआत की है जिसमे छत पर जैविक फल और सब्जी उगाने के लिए सरकार के माध्यम से आनुदान की सुबिधा दी गई है। ये योजना बिहार के कुछ ही शहरी क्षेत्रों मे शुरू की गई है। 

बिहार के लाभान्वित होने वाले शहर पटना, गया, भागलपुर एवं मुजफ्फरपुर के शहरी क्षेत्र के लोग इस योजना का लाभ उठा सकते है। छत पर बागवानी योजना के अंतर्गत आवेदन करने वाले इच्छुक व्यक्ति को लागत का 50% या कम से कम 25,000 रुपये तक की सब्सिडी सरकार के माध्यम से दी जाती है।

छत पर बागवानी करने के लिए न ज्यादा मिट्टी की जरूरत होगी और न ही सिंचाई के लिए ज्यादा पानी की जरूरत होती है. लाभार्थियों को प्लास्टिक पॉट, पोटेबल फ़ार्मिंग सिस्टम, ऑर्गैनिक कीट, फ्रूट बैक, खुरपी, हैन्ड स्पेयर, शेपलीग ट्रे, ड्रिप सिस्टम, फल के पौधे, सब्जी के पौधे आदि के लिए अनुदान राशि प्रदान की जाती है। इस योजना का लाभ लेने के लिए लाभाथीं के मकान के छत पर 300 sq. ft. का खुला स्थान होना चाहिए। तभी वे इस योजना का लाभ ले पायेगे।


छत पर बागवानी योजना क्या हैं (Chhat par bagwani Yojana Kya hai)

छत पर बागवानी योजना शहरी क्षेत्र के रहने वाले लोगों के लिए जो की टेरेस गार्डनिंग करना चाहते है उनके लिए ये योजना काफी अच्छा साबित हुआ है। इस योजना के तहत लाभार्थियों को छत पर जैविक फल और सब्जी उगाने के लिए सरकार के माध्यम से आनुदान की सुबिधा दी गई है। जिसका लाभ ले लाभार्थि ताजे एवं जैविक फल तथा सब्जियों का उत्पादन कर सकते है।

टेरेस फार्मिंग से लोगों को काफी फायदा हो रहा है. एक तो ताजे फल सब्जी लोगों को मिल रही है वो भी पूरी तरह से जैविक जो की मनुष्य के स्वस्थ्य के लिए काफी अच्छा है। 

यह भी पढे !


टेरेस गार्डनिंग से लाभ (Terrace Gardening se labh)

  • टेरेस गार्डनिंग करने से ताजे एवं जैविक फल तथा सब्जियों प्राप्त होती है जो की हमारे स्वस्थ के लिए काफी अच्छा होता है इसमे किसी भी प्रकार का ना तो कीटनाशक का प्रयोग किया जाता है और नहीं किसी भी प्रकार के रासायनिक खाद का उपयोग किया जाता है।
  • टेरेस गार्डनिंग मे धनिया, पालक, मेथी, बथुआ आदि सब्जियों के साथ ही मिर्च और टमाटर भी उगाया जा सकता है। इसमें जैविक खाद, गोबर खाद या केचुआ खाद आदि डालकर भी उत्पादन को बढ़ाया जा सकता है।
  • टेरेस गार्डनिंग करने से आपकी छत हराभरा दिखेगा वहीं आप छत पर सब्जी उगाकर एक ओर जहां आप ताजी और केमिकल मुक्त सब्जी प्राप्त कर पाएंगे। 
  • छत पर छोटी-छोटी क्यारियां तैयार कर प्याज, बैंगन, लौकी, टमाटर, हरा धनीया, मिर्च, करेला, खीरा, पालक, मैथी व फूल गोभी की जैविक सब्जियां आसानी से ली जा सकती है।
Chhat par bagwani Yojana
Chhat par bagwani Yojana

छत पर बागवानी योजना की मुख्य बातें (Chhat par bagwani Yojana Key Points)

योजना का नाम छत पर बागवानी योजना
इनके द्वारा शुरू की गयी बिहार के राज्य सरकार द्वारा
विभाग Directorate of Horticulture Department of Agriculture Bihar
योजना का उदेश्य टेरेस गार्डनिंग को बढ़ावा देना
लाभार्थी बिहार राज्य के शहरी क्षेत्र (पटना, गया, भागलपुर, मुजफ्फरपुर )
ऑफिसियल वेबसाइट http://horticulture.bihar.gov.in/

आवेदन कैसे करें (Chhat par bagwani Yojana Apply online)

इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक को Directorate of Horticulture Department of Agriculture Bihar के आधिकारिक वेबसाईट पर जाकर आवेदन करके इस योजना का लाभ ले सकते है। आवेदन करने से पहले इक्षुक लाभान्वित इस योजना के नियम एवं शर्तों को अवश्य पढे।

Apply online – http://horticulture.bihar.gov.in/

यह भी पढे !


तो दोस्तों मुझे आशा है कि आपको छत पर बागवानी योजना से जुड़ी जानकारी पसंद आयी होगी इस पोस्ट मे छत पर बागवानी योजना क्या है इसके बारे मे पूरी जानकारी दि गई है। अगर आपको इस पोस्ट से संबंधित कोई भीं सवाल हो तो आप हमसे कमेंट सेक्शन में पूछ सकते है।

तो दोस्तों मुझे आशा है कि आपको हमारा यह पोस्ट पसंद आया होगा, अगर आपको पसंद आया है तो इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे। और उन तक भी छत पर बागवानी योजना के बारे मे जानकारी पहुँचाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

  • Connect with us
- Advertisement -
error: Content is protected !! Do\'nt Copy !!