Monday, October 3, 2022

Multi Crop Thresher : एक थ्रेशर से करें कई फसलों के दानें निकालने का कार्य, जानियें इसकी विशेषता एवं लाभ

spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

फसलों से दाने निकालने का कार्य काफी मेहनत भरा एवं ज्यादा समय लगने वाला कार्य हैं जिससे किसानों को फसलों की गहाई (थ्रेशिंग) करने मे कई दिन लग जाते हैं। बाजार मे कई तरह के थ्रेशर (Thresher) उपलब्ध है जिससे फसलों की गहाई की जा सकती हैं लेकिन ज्यादातर थ्रेशर विशेष रूप से तीन या चार फसलों की गहाई करने के काम मे ही आते है जिससे किसानों को अलग-अलग फसलों के गहाई करने मे परेशानी होती हैं। आज के इस लेख मे बात करने वाले है एक ऐसे थ्रेशर के बारे मे जो की दस से भी अधिक फसलों की थ्रेशिंग करने मे काम आता हैं।

मल्टीक्रॉप थ्रेसर (Multi Crop Thresher) किसानों के लिए एक बहुउपयोगी कृषि यंत्र है। यह बहु फसलीय गहाई यंत्र गेहूं, धान, मक्का, ज्वार, सरसों, सोयाबीन, तुअर, चना, मूंग, मसूर, राई, अरहर व मूंगफली आदि जैसी फसलों की गहाई के साथ-साथ इसके दानें को साफ-सुथरे करके बाहर निकालती है। नये एवं आधुनिक तकनीकों से बने होने के करण यह गहाई उपकरण एकही समय मे फसलों से दानें को अलग करने के साथ-साथ अनाज की सफाई तथा दाने से भूसे को आसानी से अलग कर देती है साथ ही आनज मे मिश्रित भूसे तथा मिट्टी को भी अलग करती हैं। जिससे किसानों को इस यंत्र से गहाई करने पर कम समय, कम लागत एवं कम मेहनत मे फसलों की आसानी से गहाई हो जाती हैं।

क्या हैं मल्टीक्रॉप थ्रेसर (Multi Crop Thresher kya hain in hindi)

यह एक गहाई यंत्र है जो फसलों की गहाई करने के काम मे आता हैं इस यंत्र से गेहूं, धान, मक्का, ज्वार, सरसों, सोयाबीन, तुअर, चना, मूंग, मसूर, राई, अरहर व मूंगफली आदि जैसी फसलों की गहाई की जाती हैं। इस यंत्र मे मुख्य रूप से थ्रेशिंग सिलिंडर, औसिलेटिंग बॉक्स, वीनोइंग (ओसौनी), स्ट्रावाकर एवं दानों की सफाई करने की अटैचमेंट लगे होते हैं। इस कृषि यंत्र को ट्रैक्टर के माध्यम से चलाया जाता है इसे 35 एचपी या इससे अधिक के ट्रैक्टर की सहायता से चलाया जा सकता हैं।

Multi Crop Thresher
Multi Crop Thresher

मल्टीक्रॉप थ्रेशर का उपयोग (Use of Multicrop Thresher)

मल्टीक्रॉप थ्रेशर का उपयोग फसलों से दानों को अलग करने मे किया जाता हैं यानि कि इसका उपयोग थ्रेशिंग करने मे किया जाता हैं। अन्य थ्रेशर के अपेक्षा मल्टीक्रॉप थ्रेशर काफी अच्छा थ्रेशिंग का कार्य करता हैं। इसकी अच्छी थ्रेशिंग परफॉरमेंस होने के कारण अनाज को बिना कुछ नुकसान पहुँचाएं. उच्च गुणवत्ता वाला भूसा देता है इसकी भूसा की गुणवत्ता न ज्यादा मोटा ओर न ही ज्यादा पतला होता है। इससे फसलों की गहाई करने पर किसानों को कम समय, कम लागत एवं कम मेहनत लगती हैं।

Agriculture in hindi

मल्टीक्रॉप थ्रेशर से लाभ (Benefit from multi crop thresher)

  • इसे एक जगह से दूसरी जगह ले जाना काफी आसान हैं इसे ट्रैक्टर की मदद से खेत मे ले जाकर भी थ्रेशिंग का कार्य किया जा सकता हैं।
  • इसके उपयोग से किसान मजदूरी, समय और श्रम की बचत कर सकते हैं। 
  • यह यंत्र एकही बार मे फसलों से दाने एवं भूसे को अलग कर देती हैं इसमे बार-बार अनाज को डालने की आवश्यकता नहीं होती हैं। यह एकही बार मे आनज से भूसे, मिट्टी के छोटे टूकङे आदि को अलग कर बिल्कुल साफ-सुथरा आनाज देती हैं। 
  • इस यंत्र का सही से देखभाल एवं सही तरीके से चलाया जाए तो यह लंबे समय तक चलता हैं। 
  • इस यंत्र को किराये पर चलाकर भी अतिरिक्त आमदनी कमाया जा सकता हैं। 

मल्टीक्रॉप थ्रेसर की कीमत (Multi crop thresher price)

मल्टीक्रॉप थ्रेशर की कीमत की शुरुआत करीब 60 हजार रुपये से हो जाती हैं और यह 4 लाख की कीमत तक की होती हैं। कीमत कंपनी, तकनीक, थ्रेशिंग परफॉरमेंस और गुणवत्ता पर निर्भर करती है। मल्टीक्रॉप थ्रेशर कई बङी कंपनियों से लेकर छोटी कंपनियाँ बनाती हैं।

यह भी पढे.. बुआई करने के लिए करें इन कृषि यंत्रों का उपयोग

मल्टीक्रॉप थ्रेशर पर सब्सिडी (Subsidy on multi crop thresher)

मल्टीक्रॉप थ्रेशर मशीन पर कई राज्य समय-समय पर योजना चलाकर अनुदान भी प्रदान करती है अनुदान का लाभ लेकर किसान कम दामों पर इस कृषि यंत्र की खरीदारी कर सकते हैं। किसान सब्सिडी की और अधिक जानकारी के लिए कृषि विभाग के आधिकारियों से भी संपर्क कर सकते है या कृषि विभाग की पोर्टल पर सब्सिडी की जानकारी चेक कर सकते हैं।

कई फसलों की करता हैं थ्रेशिंग (Threshing of many crops)

मल्टीक्रॉप थ्रेशर मशीन दस से भी अधिक फसलों की गहाई कर सकता हैं अलग-अलग फसलों की गहाई के लिए थ्रेशर की सेटिंग मे कुछ बदलाव करके गहाई का कार्य आसानी से किया जा सकता हैं। इस मशीन से थ्रेशिंग करने पर किसानों को फसलों से प्राप्त होने वाला भूसा बेकार नहीं जाता है इस भूसे का इस्तेमाल किसान पशुओ के चारे के रूप मे कर सकते हैं। अगर किसान मल्टीक्रॉप थ्रेशर मे सरसों,राई आदि जैसी फसलों की थ्रेशिंग करते है तब भी किसानों को इससे प्राप्त होने वाली सरसों की डंठलों की बर्बादी नहीं होती है। सरसों की डंठलों का उपयोग किसान जलावन के रूप मे या तो फिर झोपङी आदि बनाने मे इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

श्रम की बचत (labor saving)

फसलों की थ्रेशिंग मल्टीक्रॉप थ्रेशर से करने पर किसानों की श्रम की बचत होती है क्योंकि यह थ्रेशर अन्य थ्रेशरों की तुलना मे एकही समय मे एकसाथ कई कार्य करता हैं वहीं अगर बात करें सामान्य थ्रेशर की तो उससे थ्रेशिंग करने पर किसानों को काफी मेहनत करनी पङती हैं। क्योंकि सामान्य थ्रेशर मे एक बार फसल को डालने के बाद अनाज मे फसलों के भूसा, मिट्टी के टूकङे एवं फसलों के कुछ अवशेष रह जाते है जिसकी वजह से किसानों को दोबारा अनाज को थ्रेशर मे डालना पङता है जिससे किसानों को मेहनत और समय दोनों ही ज्यादा लगता हैं।

मल्टीक्रॉप थ्रेसर से संबंधित पूछे गए प्रश्न (FAQs)
Q. मल्टी क्रॉप थ्रेशर क्या होता है?
मल्टी क्रॉप थ्रेशर फसलों की गहाई करने का यंत्र है जिसकी मदद से फसलों से अनाज के दानों को अलग किया जाता हैं।
Q. मल्टी क्रॉप थ्रेशर की कीमत क्या है?
इसकी कीमत अलग-अलग कंपनियों पर निर्भर करती हैं वैसे इसकी कीमत की शुरुआत करीब 60 हजार रुपये से हो जाती हैं और यह 4 लाख की कीमत तक की होती हैं।
Q. थ्रेशर पर सब्सिडी कितनी मिलती है?
अलग-अलग राज्यों मे थ्रेशर पर सब्सिडी अलग-अलग होती हैं कई राज्यों मे थ्रेशर पर लगभग 40% से 50% तक की सब्सिडी दी जाती हैं।

farming in hindi

तो मुझे आशा है कि आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा, अगर आपको पसंद आया है तो इस लेख को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे। और उन तक भी मल्टीक्रॉप थ्रेशर की जानकारी पहुँचाए।

यह भी पढे..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

  • Connect with us
- Advertisement -
error: Content is protected !! Do\'nt Copy !!